हज़ारों है रूप हज़ारों है नाम Hazaaron Hai Roop Hazaaron Hai Naam Lyrics In Hindi

1/5 - (1 vote)

Hazaaron Hai Roop Hazaaron Hai Naam Lyrics In Hindi
हज़ारों है रूप हज़ारों है नाम
Hansraj Raghuwanshi Lyrics
Bhakti Song Lyrics

गाना – Hazaaron Hai Roop (2022)
गायक – हंसराज रघुवंशी
कलाकार – हंसराज, कोमल सकलानी, ग्रीश भट्ट
गीतकार – कबीर शुक्ला
संगीत – डीजे स्ट्रिंग्स
गीत प्रकार – भक्ति, भगवान भजन
श्रेणी – शिव भक्ति गीत
संगीत लेबल – सारेगामा संगीत

Hazaaron Hai Roop Hazaaron Hai Naam Lyrics In Hindi

 

 

 

 

 

 

 

 

Hazaaron Hai Roop Song Lyrics In Hindi

हज़ारों है रूप
हज़ारों है नाम,
समस्त लोक जिन्हे पुजते है हाँ

हज़ारों है रूप, हज़ारों है नाम
समस्त लोक जिन्हे पुजते है हाँ

ओ मृगछाला ओ भस्मधारी,
जिनके श्रृंगार में गंगा चाँद,
हज़ारों है रूप हज़ारों है नाम..

दशा हो जैसी काल हो जैसा,
मेरा महाकाल सबकी सुन लेता

दशा हो जैसी काल हो जैसा,
मेरा महाकाल सबकी सुन लेता

त्रिनेत्र में जिनके संसार बसता,
देख के बैठे हैं इतिहास वो का

भव सागर से दे पार लगा,
जग के मूल आधार शिव

ओ मृगछाला ओ भस्मधारी,
जिनके श्रृंगार में
गंगा चाँद..
हज़ारों है रूप हज़ारों है नाम

देखा जब संकट में सबको
आए बनकर शक्ति तब वो,
हर लिया हर कष्ट हर ने
नष्ट करके पापी जगत को

त्रिशूल धारी सत्य मंगल
वो विनाशी वोही मंगल,
शिव ने बनाया सब कुछ
शिव समाए सब के अंदर

ओ मृगछाला ओ भस्मधारी,
जिनके श्रृंगार में गंगा चाँद
हज़ारों है रूप हज़ारों है नाम..

बिस्वनाथ मम नाथ पुरारी
त्रिभुवन महिमा बिदित तुम्हारी,
अंत भी तुम हो तुम ही अनादि
अनंत अंश तुम्हारे त्रिपुरारी

किरण सुहानी हर शाम सुहानी
जिस्को हो जाए दर्श रूहानी,
जो हो जाए शिव के दीवाने

उसकी हो जाए दुनिया दीवानी,
उसकी हो जाए दुनिया दीवानी
उसकी हो जाए दुनिया दीवानी.

लागी लगन शंकरा 2

नमो नमो जी शंकरा भोलेनाथ शंकरा

Title Name – Hazaaron Hai Roop (2022)
Singer – Hansraj Raghuwanshi
Starring – Hansraj, Komal Saklani, Greesh Bhatt
Lyricist – Kabeer Shukla
Music – DJ Strings
Song Type – Devotional – Bhagwani Bhajan
Category – Shiv Bhakti Song
Music Lable – Saregama Music

Hazaaron Hai Roop Full Lyrics In English

Hazaaron Hai Roop
Hazaaron Hai Naam
Samsat Lok Jinhe
Pujte Hai Haan

Hazaaron Hai Roop
Hazaaron Hai Naam
Samsat Lok Jinhe
Pujte Hai Haan

O Mrigchala
O Bhasmdhaari
Jinke Shringaar Mein
Ganga Chand

Hazaaron Hai Roop
Hazaaron Hai Naam

Dasha Ho Jaisi
Kaal Ho Jaisa
Mera Mahakal
Sabki Sun Leta

Dasha Ho Jaisi
Kaal Ho Jaisa
Mera Mahakal
Sabki Sun Leta

Trinetr Mein Jinke
Sansar Basata
Dekh Ke Baithe Hai
Itihaas Wo Ka

Bhav Sagar Se
De Paar Laga
Jag Ke Mool
Aadhaar Shiva

O Mrigchala
O Bhasmdhaari
Jinke Shringaar Mein
Ganga Chand

Hazaaron Hai Roop
Hazaaron Hai Naam

Dekha Jab Sankat
Mein Sabko
Aaye Bankar
Shakti Tab Wo

Har Liya Har
Kasht Har Ne
Nasht Karke
Paapi Jagat Ko

Trishul Dhaari
Satay Mangal
Wo Vinashi
Wo Hi Mangal
Shiv Ne Banaya
Sab Kuch
Shiv Samaye
Sab Ke Andar

O Mrigchala
O Bhasmdhaari
Jinke Shringaar Mein
Ganga Chand

Hazaaron Hai Roop
Hazaaron Hai Naam

Bisvanaath Mam
Naath Puraari
Tribhuvan Mahima
Bidit Tumhaari
Ant Bhi Tum Ho
Tum Hi Anaadi
Anant Ansh
Tumhare Tripuraari

Kiran Suhani Har
Shaam Suhani
Jisko Ho Jaaye
Darsh Ruhani
Jo Ho Jaaye

Shiv Ke Deewane
Uski Ho Jaaye
Duniya Deewani
Uski Ho Jaaye
Duniya Deewani
Uski Ho Jaaye
Duniya Deewani

 

Leave a Comment