हम लाए हैं तूफान से किश्ती निकाल के Hum Laye Hain Toofan Se Kashti Nikal Ke Lyrics In Hindi – Jaagriti (1954) Mohammad Raf

Rate this post

Hum Laye Hain Toofan Se Kashti Nikal Ke Lyrics In Hindi हम लाये है तूफान से Mvie, Jaagriti (1954) Singer, Mohammad Raf | Star, Abhi Bhattacharya, Ratan Kumar | Desh Bhakti Songs | Old Is Gold

गाना – Hum Laye Hain Toofan Se Kashti Nikal Ke Lyrics
फिल्म – जागृति (1954)
गायकार – मोहम्मद रफ
गीतकार – प्रदीप
कलाकार – अभि भट्टाचार्य, रतन कुमार
संगीतकार – हेमंत कुमार

Hum Laye Hain Toofan Se Kashti Nikal Ke Lyrics In Hindi - Jaagriti (1954) Mohammad Raf

Hum Laye Hain Toofan Se Kashti Nikal Ke Lyrics In Hindi

पासे सभी उलट गए दुश्मन की चाल के
अक्षर सभी पलट गए भारत के भाल के
मंज़िल पे आया मुल्क हर बला को टाल के
सदियों के बाद फिर उड़े बादल गुलाल के

हम लाए हैं तूफ़ान से किश्ती निकाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
हम लाए हैं तूफ़ान से किश्ती निकाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के

तुम ही भविष्य हो मेरे भारत विशाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
हम लाए हैं तूफ़ान से किश्ती निकाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के

देखो कहीं बरबाद ना होए ये बगीचा
देखो कहीं बरबाद ना होए ये बगीचा
इसको हृदय के खून से बापू ने है सींचा
रक्खा है ये चिराग़ शहीदों ने बाल के

इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
हम लाए हैं तूफ़ान से किश्ती निकाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के

दुनिया के दांव पेंच से रखना ना वास्ता
दुनिया के दांव पेंच से रखना ना वास्ता
मंज़िल तुम्हारी दूर है लम्बा है रास्ता
भटका ना दे कोई तुम्हें धोखे में डाल के

इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
हम लाए हैं तूफ़ान से किश्ती निकाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के

ऐटम बमों के जोर पे ऐंठी है ये दुनिया
बारूद के इक ढेर पे बैठी है ये दुनिया
ऐटम बमों के जोर पे ऐंठी है ये दुनिया
बारूद के इक ढेर पे बैठी है ये दुनिया
तुम हर कदम उठाना ज़रा देख भाल के

इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
हम लाए हैं तूफ़ान से किश्ती निकाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के

आराम की तुम भूल भुलय्या में ना भूलो
सपनों के हिंडोलों पे मगन होके ना झूलो
आराम की तुम भूल भुलय्या में ना भूलो
सपनों के हिंडोलों पे मगन होके ना झूलो

अब वक़्त आ गया है मेरे हँसते हुए फूलों
उठो छलाँग मार के आकाश को छू लो ..
आकाश को छू लो ..
तुम गाड़ दो गगन पे तिरंगा उछाल के

इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
हम लाए हैं तूफ़ान से किश्ती निकाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के

Song – Hum Laye Hain Toofan Se Kashti Nikal Ke
Mvie- Jaagriti (1954)
Singe – Mohammad Raf
Lyricist – Pradeep
Starring – Abhi Bhattacharya, Ratan Kumar
Music Directo – Hemant Kumar

Hum Laye Hain Toofan Se Kashti Nikal Ke Lyrics In English

Paase sabhii ulaTgae
Dushman kii chaal ke
Akshar sabhii palaTgae
Bhaarat ke bhaal ke

Manzil pe aayaa mulk
Har balaa ko Taal ke
Sadiyon ke baad phir
Ude badal gulaal ke

Ham laae hain tuufaan se
kashtii nikaal ke
Is desh ko rakhanaa mere
Bachcho sambhaal ke

Ham laae hai.n tuufaan se
kashtii nikaal ke
Is desh ko rakhanaa mere
Bachcho sambhaal ke

Tum hii bhavishhy ho
Mere bhaarat vishaal ke
Is desh ko rakhanaa
Mere bachho sambhaal ke

Ham laae hain tuufaan se
kashtii nikaal ke
Is desh ko rakhanaa mere
Bachcho sambhaal ke

Dekho kahiin barabaad na
Hoe ye bagiichaa
Dekho kahii.n barabaad na
Hoe ye bagiichaa

Isako hR^iday ke khuun se
Baapuu ne hai sii.nchaa
Rakkhaa hai ye chiraaG
Shahiido.n ne baal ke

Is desh ko rakhanaa mere
Bachcho sambhaal ke
Ham laae hai.n tuufaan se
kashtii nikaal ke
Is desh ko rakhanaa mere
Bachcho sambhaal ke

Duniyaa ke daa.nv pe.nch se
Rakhanaa nA vaastaa
Duniyaa ke daa.nv pe.nch se
Rakhanaa nA vaastaa

Ma.nzil tumhaarii dUr hai
Lambaa hai raastaa
BhaTakaa nA de koii tumhen
Dhokhe me.n Daal ke

Is desh ko rakhanaa mere
Bachcho sambhaal ke
Ham laae hai.n tuufaan se
kashtii nikaal ke
Is desh ko rakhanaa mere
Bachcho sambhaal ke

Aitam bamon ke jor pe
Baithii hai ye duniyaa
Baaruud ke ik Dher pe
Baithii hai ye duniyaa

AiTam bamon ke jor pe
Bainthii hai ye duniyaa
Baaruud ke ik Dher pe
Baithii hai ye duniyaa

Tum har kadam uthaanaa
zaraa dekha bhaal ke
Is desh ko rakhanaa
Mere bachcho sambhaal ke

Ham laae hain tuufaan se
Kashtii nikaal ke
Is desh ko rakhanaa
Mere bachcho sambhaal ke

Aaraam kii tum bhuul
Bhulayyaa me.n na bhuulo
Sapanon ke hinolon pe
Magan hoke na jhuulo

Aaraam kii tum bhuul
Bhulayyaa men na bhuulo
Sapano.n ke hindolon pe
Magan hoke na jhuulo

Ab vaqt aa gayaa hai
Mere hansate hue phuulon
UTho chhalaan gmaar ke
Aakaash ko chhuulo

Aakaash ko chhuulo
Tum gaad do gagan pe
Tirangaa uchhaal ke

Is desh ko rakhanaa
Mere bachcho sambhaal ke
Ham laae hain tuufaan se
Kashtii nikaal ke
Is desh ko rakhanaa
Mere bachcho sambhaal ke ..

Hum Laye Hain Toofan Se Kashti Nikal Ke Lyrics FAQ

हम लाए हैं तूफान से किश्ती निकाल के, गाना किसने गाया है ?

हम लाए हैं तूफान से किश्ती निकाल के, गाना मोहम्मद रफ, ने गाया है।

हम लाए हैं तूफान से किश्ती निकाल के, गाना किस फिल्म का है ?

हम लाए हैं तूफान से किश्ती निकाल के, गाना जागृति, फिल्म का है।

जागृति, फिल्म मे कलाकार कोन-कोन है?

जागृति, फिल्म मे कलाकार अभि भट्टाचार्य, प्रणोति घोष, बिपिन गुप्ता, मुमताज बेगम, राजकुमार गुप्ता, रतन कुमार, चंदन कुमार, दिलीप, राजा, मोहन चोटी, घनश्याम, हैं ।

हम लाए हैं तूफान से किश्ती निकाल के, गाने के बोल किसने लिखे हैं ?

हम लाए हैं तूफान से किश्ती निकाल के, गाने के बोल प्रदीप, ने लिखे हैं |

जागृति, फिल्म के निर्देशक कौन है?

जागृति, फिल्म के निर्देशक सत्येन बोस, है |

जागृति, फिल्म कब रिलीज़ हुई थी?

जागृति, फिल्म 1954, को रिलीज़ हुई थी |

Leave a Comment